आज का Hindi Urdu Word श्रृंखला में शब्द है "रुख़सत"। जिसका प्रयोग "नासिर काज़मी (Nasir Kazmi) की ग़ज़ल" में भी किया गया है।

"रुख़सत" का अर्थ विदा होने का भाव या प्रस्थान किया हुआ होता है। अब एक नज़र नासिर काज़मी की ग़ज़ल की ओर डाल लेते हैं, जिसमें रुख़सत शब्द का प्रयोग हुआ है।

Urdu words

Nasir Kazmi Ghazal In Urdu

दिल धड़कने का सबब याद आया,
वो तेरी याद थी अब याद आया।

Dil Dhadakne Ka Sabab Yad Aaya,
Wo Teri Yad Thi Ab Yad Aaya.

आज मुश्किल था सँभलना ऐ दोस्त,
तू मुसीबत में अजब याद आया।

Aaj Muskil Tha Sambhalana Aye Dost,
Tu Musibat Me Ajab Yad Aaya.

दिन गुज़ारा था बड़ी मुश्किल से,
फिर तेरा वादा-ए-शब याद आया।

Din Guzara Tha Badi Mushkil Se,
Fir Tera Wada-E-Shab Yad Aaya.

तेरा भूला हुआ पैमान-ए-वफ़ा,
मर रहेंगे अगर अब याद आया।

Tera Bhula Hua Paiman-E-Wafa,
Mar Rahenge Agar Ab Yad Aaya.

फिर कई लोग नज़र से गुज़रे,
फिर कोई शहर-ए-तरब याद आया।

Fir Kai Log Nazar Se Guzre,
Fir Koi Shahar-E-Tarab Yad Aya.

हाल-ए-दिल हम भी सुनाते लेकिन,
जब वो "रुख़सत" हुआ तब याद आया।

Hal-E-Dil Hum Bhi Sunate Lekin,
Jab Wo "Rukhsat" Hua Tab Yad Aya.

बैठकर साया-ए-गुल में "नासिर",
हम बहुत रोए वो जब याद आया।

Baithkar Saya-E-Gul Me "Nasir",
Hum Bahut Roye Wo Jab Yad Aya.

Read More Words

Buy Rhyming Dictionary

Conclusion :- आज Hindi Urdu Words में हमने "रुख़सत" का अर्थ और इसका प्रयोग नासिर काज़मी की ग़ज़ल (Nasir Kazmi Ghazal) को प्रस्तुत करके बताया। ऐसे ही Urdu Words Daily के लिए हमारी Website को visit करते रहें और Share करते रहे।

Topic :- daily hindi urdu words, shabd sangrah, nasir kazmi ghazal etc.

Post a Comment

Previous Post Next Post