आज का Hindi Urdu Word श्रृंखला में शब्द है "सिंगार-दान"। इसका प्रयोग "बशीर बद्र (Bashir Badr) की ग़ज़ल में भी किया गया है। सिंगार-दान शब्द का अर्थ महिलाओं के श्रृंगार का सामान रखने का संदूक होता है। चलिए अब एक नज़र Bashir Badr की Urdu Ghazal की ओर डालते हैं।

Urdu words

Bashir Badr Ghazal In Urdu

कभी तो शाम ढले अपने घर गए होते,
किसी की आँख में रहकर सँवर गए होते।


Kabhi To Sham Dhale Apne Ghar Gaye Hote,
Kisi Ki Aankh Me Rahkar Sanwar Gaye Hote.


सिंगार-दान में रहते हो आइने की तरह,
किसी के हाथ से गिरकर बिखर गए होते।


Singar-Dan Me Rahte Ho Aayine Ki Tarah,
Kisi Ke Hath Se Girkar Bikhar Gaye Hote.


ग़ज़ल ने बहते हुए फूल चुन लिए वरना,
ग़मों में डूबकर हम लोग मर गए होते।


Ghazal Ne Bahte Hue Fool Chun Liye Warna,
Gamo Me Dhubkar Hum Log Mar Gaye Hote.


बहुत दिनों से है दिल अपना ख़ाली ख़ाली सा,
ख़ुशी नहीं तो उदासी से भर गए होते।


Bahut Dino Se Hai Dil Apna Khali Khali Sa,
Khushi Nahi To Udasi Se Bhar Gaye Hote.


अजीब रात थी कल तुम भी आके लौट गए,
जब आ गए थे तो पल भर ठहर गए होते।


Ajib Rat Thi Kal Tum Bhi Aake Laut Gaye,
Jab Aa Gaye The To Pal Bhar Thahar Gaye Hote.

Read More Words

Buy Rhyming Dictionary

Conclusion :- आज Hindi Urdu Words में हमने "सिंगार-दान" का अर्थ और इसका प्रयोग बशीर बद्र की ग़ज़ल (bashir badr ghazal) को प्रस्तुत करके बताया। ऐसे ही Urdu Words Daily के लिए हमारी वेबसाइट को पढ़ते रहें और Share करते रहे।

Topic :- daily hindi urdu words, shabd sangrah, bashir badr ghazal etc.

Post a Comment

Previous Post Next Post