What Is Ghost Writer | Ghost Writer Kaise Bane | Ghost Writing In Hindi

रचनाकारों के इस महामंच पर आप सभी का अभिनंदन है। आज के लेख में हम घोस्ट राइटर क्या है, ये बताने वाले हैं। इसलिए इस पोस्ट को पूरा जरूर पढिए। इसमें हम आपको इसकी सही डेफिनेशन बताने के साथ साथ ये भी बताने वाले हैं कि आप एक घोस्ट राइटर कैसे बन सकते हैं। दोस्तों ये पोस्ट आपके लिए बहुत ही यूनिक होने वाली है, क्योंकि आपको ये जानकारी और कहीं नहीं मिलेगी। इसलिए इसे ध्यान से समझने की कोशिश करें।

What Is Ghost Writer - घोस्ट राइटर क्या है


सबसे पहले हम बात करते हैं कि घोस्ट राइटर आखिर क्या होता है। राइटर क्या होता है, इससे तो आप भली भांति वाकिफ होंगे। लेकिन अब ये घोस्ट राइटर क्या है, आपके मन में ये प्रश्न जरूर दौड रहा होगा। कोई बात नहीं हम आपको डिटेल में बता देते हैं। दोस्तों हर इंसान के मन में एक आइडिया होता है या कोई कहानी आदि होती है। जिसे वो अपनी पुस्तक के रूप में लिखने का सोचता है। लेकिन यदि वो शख्स राइटर नहीं है, तो जाहिर सी बात है बिना लेखन जानकारी के नियमों को फाॅलो किए बिना वो लिख नहीं पाएगा। हर इंसान अपने जीवन के अनुभव आदि को कहानी आदि के माध्यम से बूक में बताना चाहता है। लेकिन सोचिए अगर किसी व्यक्ति को अपनी बूक लिखनी है और उसके पास थाॅट या कहानी है, तो वो बिना जानकारी के कैसे लिखेगा? अगर उसके पास समय नहीं है, तो क्या वो कभी अपनी बूक लिख नहीं पाएगा?

नहीं दोस्तों, वो बिल्कुल अपनी पुस्तक लिख सकता है और वो भी सही तरीके से। इसके लिए वो एक लेखक से बात करेगा कि मेरे पास एक कहानी है, जो मेरी खुद की है और मैं उसे पुस्तक का रूप देना चाहता हूं। ऐसे में वो एक लेखक को हायर कर लेता है। वो लेखक जिसके पास उस लेखन से संबंधित पूरी जानकारी है, वो उसकी मदद करेगा और उससे उसके थाॅट जानकर उसकी किताब को लिखेगा। ध्यान रहे यहां विचार लेखक के नहीं है, बल्कि विचार उस इंसान के हैं, जो किताब लिखवा रहा है। ये लेखक बस एक माध्यम का काम कर रहा है, जो उसके यूनिक थाॅट्स आदि को पुस्तक के रूप में पाठकों के सामने रख रहा है। यहां एक बात ध्यान रखें कि ये जो लेखक हायर किया जाता है, उसे लिखने का पैमेंट किया जाता है। पर कभी भी इसमें उस लेखक के नाम को क्रेडिट नहीं दिया जाता। ये पुस्तक उस आदमी के नाम हो जाएगी, जिसने उससे लिखवाई है। असल में यही होता है एक घोस्ट राइटर।

How To Become Ghost Writer - घोस्ट राइटर कैसे बने


वैसे आप भी सोच रहे होंगे कि इसका नाम घोस्ट राइटर की बजाय गेस्ट राइटर होता, तो ज्यादा अच्छा होता। देखिए यहां लेखक सिर्फ लिखने का काम कर रहा है यानि उसे लिपिबद्ध कर रहा है। कई लोग ये करते हैं कि विचार भी लेखक के हों और लिखवाते भी उसी से हैं, बस उसे पैसा देकर बात खत्म कर देते हैं, जो सही नहीं है। हालांकि, मैं इस बात के खिलाफ हूं कि एक घोस्ट राइटर जो किसी के लिए काम कर रहा है, उसे पैसे जरूर दिए जाते हैं पर उसके नाम को क्रेडिट नहीं दिया जाता। मेरा मानना है कि भले ही कोई क्लाइंट किसी घोस्ट राइटर को हायर करके उससे पुस्तक आदि लिखवाए। लेकिन वो उस पुस्तक में इतना तो जिक्र कर ही सकता है कि लेखन में सहयोग इस रचनाकार ने किया है। इससे उसका मान घटेगा नहीं, जहां तक मेरा मानना है। क्योंकि मान लीजिए किसी क्लांइट ने ऐसे लिखवाके लेखक के नाम को क्रेडिट नहीं दिया, तो कोई भी उस फिल्ड से संबंधित रचनाकार या पाठक जब उस पुस्तक के सिलसिले में आपसे बात करेगा, तो आपके पास क्या जवाब रहेगा। क्या आपके पास उस विधा से जुडा ज्ञान है? क्या आपने ही इस पुस्तक को लिखा? इसमें क्या क्या बातें लिखने में ध्यान रखनी होती है? ऐसे कई सारे प्रश्न उस क्लांइट के सामने आ सकते हैं।


वैसे ये घोस्ट राइटर हायर करने का काम आज से नहीं, बल्कि कई सालों से चला आ रहा है। आपके सामने घोस्ट राइटर के रूप में आज के समय में बहुत बडी अपार्चूनिटी आ गई है। इंटरनेट पर ऐसे कई सारे क्लांइट्स हैं, जो अपने थाॅट्स को लिपिबद्ध करवाने के लिए घोस्ट राइटर ढूंढ रहे हैं। साथ ही आपको अपनी मेहनत का पैसा कमाने का भी मौका मिल रहा है। बस ये घोस्ट राइटर पर डिपेंड है कि वो अपने नाम को क्रेडिट देने की भी रिक्वेस्ट उससे करें। एक मिनट सुन लीजिए, इतनी भी जल्द बाजी अच्छी नहीं होती। यहां आपको लेखक के नाम में क्रेडिट नहीं मिल सकता। क्योंकि यहां थाॅट्स आपके नहीं होंगे, बल्कि आप तो केवल एक माध्यम के रूप में काम कर रहे हैं। इस बात का खयाल रखें और इस अवसर का आज के वक्त में लाभ जरूर उठाए।

तो दोस्तों उम्मीद है आज आपको इस पोस्ट में पता चल गया होगा कि एक घोस्ट राइटर क्या होता है और एक घोस्ट राइटर कैसे बने। अगर आपको ये पोस्ट वास्तव में यूनिक और अच्छी लगी हो, तो शेयर करना ना भूलें। लेखन की और भी कई सारी विधाओं के बारें में जानने के लिए आप हमारी वेबसाइट के कैसे लिखें काॅलम को पढ सकते हैं।

- लेखक योगेन्द्र "यश"

2 Comments

Post a comment

Previous Post Next Post