Diwali Shayari 2019 | Diwali Shayari Whatsapp Status 

बादलों से गिरके भीगीं है अरावली,
निखरी निखरी सी है अब सूरत भी सावली,
रोशन वो घर भी लग रहा जहां अंधेरा था,
तब लगा कि आई है सबकी दीपावली।

ऐसा क्या हुआ है जो सुनसान है गली,
ए खुदा इस दिन भी रुकावट ना टली,
श्मशान पे नज़र गई जलती दिखी चिता,
ना जाने किसके घर में ना मनी दीपावली।

Diwali shayari 2019

फुलछड़ियां हाथ खुशनुमा शाम थी,
पास की दुकान की सब मेरे नाम थी,
गर्मी की मिली तमाम छुट्टियां मगर,
अपने दीपावली की छुट्टियां तमाम थी।

देखो रंग हो रहा कई मकान पर,
हो रही सजावटें हर एक दुकान पर,
खुशी के पल में हमने धुंआ इतना कर दिया,
एक नज़र घुमाओ ज़रा आसमान पर।

लोग दौड़ते यहां गज़ब की दौड़ में,
खर्च लाख में नहीं ये है करोड़ में,
जेब के रुपयों को खर्च कर पागल हुए,
कौन कितने के जलाता ऐसी हौड़ में।

- कवि योगेन्द्र "यश"

इस पोस्ट में बताई गई रचनाएं स्वयं रचनाकार की स्वरचित है। इसमें से किसी भी रचना को कॉपी करना या चुराना कॉपीराइट नियमों का उल्लंघन करना होगा। सभी अधिकार लेखक के पास सुरक्षित हैं।

Post a Comment

Previous Post Next Post