Hindi Diwas Quotations | Hindi Diwas Kavita

मेरे भारत की जान है हिंदी,
क्यों दो दिन की मेहमान है हिंदी।

हिंदी भारत को विश्वगुरु बना रहा,
धर्म के नाम पर तु इसे क्यों जला रहा।

Hindi diwas quotations

लोगो की झूठी बातों से टूटी भारत की हर नारी,
हिंदी को तुम नष्ट करोगे क्या लाज शर्म गई मारी।

हिंदी से ही मेरा हिंदुस्तान बना,
कहीं अन्य भाषाएं इसे कर दे ना फना। 

भरा है इसके अंदर ज्ञान का सागर,
अपनी इस भाषा को देख तो जाकर।

बना रहा सारी दुनिया में यह अपनी पहचान,
कहीं भारतवासी रह ना जाए हिंदी से अनजान।

हिंदी ही मेरे भारत की जान है,
हिंदी से बना मेरा हिंदुस्तान है।
                           
- पुष्पेंद्र पटेल

1 Comments

Post a comment

Previous Post Next Post