तरन्नुम में शायरी कैसे लिखें - How To Write Shayari 

Shayari कैसे लिखनी है इस विषय पर हम बात कर चुके हैं। आज हम इस लेख में "तरन्नुम में शायरी कैसे लिखें" ये जानने वाले हैं। अगर आप भी shayari लिखने में intrested हैं, तो आप इस post को ध्यान से पढ़ियेगा।

तरन्नुम में shayari लिखना यानी गुनगुनाते हुए lines लिखना। कई शायर तरन्नुम में शायरी पेश करते हैं, जिन्हें देख आपको भी ये लगता है कि आप भी अपनी lines को तरन्नुम में पेश करें। लेकिन जब आप अपनी लिखी shayari पर धुन बनाने का सोचते हैं, तो आप उस पर धुन बना ही नहीं पाते। इसका कारण है कि आपकी लिखी lines पूरी तरह से किसी भी मीटर में नहीं होती।

Tarannum me shayari kaise likhe

यदि आप चाहते हैं कि आपकी shayari आप तरन्नुम में गा पाओ, तो वो shayari ग़ज़ल की किसी बहर या किसी निश्चित मीटर में लिखी हुई जरूर हो। अन्यथा आप अपनी शायरी को तरन्नुम में नहीं गा पाओगे। अब आपके सामने ये चुनौती आ जाती है कि आपको मात्रा गिनना नहीं आता जिसकी वजह से आप shayari को किसी मीटर में write नहीं कर पाते हैं। लेकिन इसका एक रास्ता है, जिससे आप बिना मात्रा आदि गिने अपनी शायरी को तरन्नुम में लिख सकते हो।

सबसे पहले आपको ये करना है आपको कोई भी song की एक line की धुन पकड़ लेनी है। उसके बाद उस धुन पर आपको एक line लिखनी है। जब आप एक line उस धुन पर लिख देंगे। उसके बाद आपको उस एक line में से काफ़िया और रदीफ़ या तुकांत शब्द का चुनाव करना है। आप किस शब्द के rhyming words लेना चाहते हैं ये सोचना है। जब आप काफ़िया रदीफ़ या rhyming words का चुनाव कर लेंगे उसके बाद दूसरी पंक्ति भी उसी धुन पर गुनगुनाते हुए लिखनी पड़ेगी। पर यहां आपको काफ़िया रदीफ़ (rhyming words) दिमाग में रखकर गुनगुनाना है।

जब आप 2 लाइन लिख देंगे तब आपका 50% काम हो जाएगा। अब आपको 2 लाइन और चाहिए। अब आप तीसरी लाइन लिखने से पहले तुकांत शब्द को ध्यान में रखकर shayari के लिए चौथी line लिखेंगे। चौथी लाइन भी आपको वही धुन गुनगुनाते हुए लिखनी है। अब आपके पास तीसरी लाइन की कमी है। अब फिर से आपको उसी धुन का सहारा लेकर shayari की तीसरी लाइन लिखनी है। लेकिन इस पंक्ति में ध्यान रहे काफ़िया रदीफ़ नहीं होता है।

Shayari की तीसरी लाइन आपको ये मानकर लिखनी है कि चौथी लाइन अधूरी है। उसके भाव को मिलाने वाली लाइन आपको लिखनी है। जब आप उस धुन को गाके shayari की चारों lines लिख देंगे, तो वो चारों line एक निश्चित मीटर में लिखी हुई होगी। ध्यान रहे वो धुन सिर्फ आधार के लिए हमने सोची थी ताकि पंक्तियां मीटर में लिखी जा सके। अब आप अपनी shayari पर मनचाही धुन बनाके उसे तरन्नुम में पेश कर सकते हैं। अगर आपको ये लेख "तरन्नुम में शायरी कैसे लिखें" अच्छा लगा हो, तो उसे शेयर जरूर करें।

- कवि/लेखक योगेन्द्र जीनगर "यश"

Post a Comment

Previous Post Next Post