भजन कैसे लिखें (How to write devotional song lyrics)

भजन क्या है (What is devotional song)

दोस्तों, आज के वक्त में song कौन नहीं लिखना चाहता। हर कोई सुबह-सुबह गुनगुनाता हुआ नजर आता है। चाहे कोई अच्छे मुड़ में हो या नहीं। हर कोई एक बार song लिखने का जरूर सोचता है। सुबह-सुबह ज्यादातर लोग भजन सुनना यानी devotional song सुनना पसंद करते हैं। जो लोग अध्यात्म से जुड़े होते हैं, वो अधिकतर भजन गाना और बनाना पसन्द करते हैं। भजन से इंसान का मन एकाग्र हो जाता है और वो आनन्द में रहता है। ऐसे में अगर आप भी भजन लिखने का सोच रहे हैं या लिखना चाहते हैं, तो आज की ये post devotional song kaise likhe जरूर पूरी पढ़ें।

bhajan kaise likhe


How to write devotional song 

भजन और गाने इन सभी का structure एक जैसा ही होता है। हालांकि हम कुछ नई चीजें भजन में शामिल करके उसे सुंदर बना सकते हैं। भजन और गानो में बस भावनाओं का फर्क होता है। जिस गाने में आध्यात्मिक भाव हो, वो भजन बन जाता है। भजन को लिखने का तरीका भी वही है, जो तरीका गाने लिखने का है।

जिस प्रकार हमने हमारी post गाना कैसे लिखते हैं में बताया था कि song में क्या-क्या लिखा जाता है और कैसे लिखा जाता है। तो आपको वो सभी चीजें सीख लेनी चाहिए। इसके लिए आप हमारी पोस्ट गाना कैसे लिखते हैं जरूर पढ़ें।

जब आप ये post पढ़ लेते हैं, तो आपको मुखड़ा और अंतरा का knowledge हो जाएगा। आपको ये भी पता चल जाएगा कि मुखड़ा और अंतरा कैसे लिखा जाता है। मैंने आपको उस पोस्ट को पढ़ने का सुझाव इसलिए दिया है, क्योंकि भजन में भी आपको मुखड़ा और अंतरा लिखना होगा। बस केवल आपको आध्यात्मिक भाव हृदय में रखते हुए सुबह जल्दी उठकर अपने अध्यात्म से जुड़े भाव को लिखना है।

भजन लिखने में एक नई चीज़ आपको शामिल करनी होगी, क्योंकि वही भजन को गाने से अलग बनाएगी और वो है दोहा। जी हां, आपको भजन में शुरुआत में एक दोहा लिखना होगा, जिसे गाने के बाद भजन की शुरुआत होगी। दोहा कैसे लिखें ये post पढ़के आप दोहा लिखना भी सीख सकते हैं। एक दोहा लिख लेने के बाद आप मुखड़ा और अंतरा क्रम से लिखते रहेंगे। आप 4 अन्तरे जब लिख लेंगे, तो आप भजन पूरा हो जाएगा।




तो दोस्तों, आज हमने हमारी पोस्ट में सीखा कि भजन कैसे लिखा जाता है। उम्मीद है आपको पता चल गया होगा कि भजन कैसे लिखा जाता है।

- लेखक योगेन्द्र "यश"

Post a Comment

Previous Post Next Post