ये छोटी सी जिंदगी

जान से प्यारी हमे हमारी गुड़िया है,
नटखट बड़ी सयानी जादुकी पुड़िया है |

Beti par kavita

विश्वास नही होता मेरा इस बात पर ,             
नन्ही परी ये क्या सचमें आयी हमारे घर,
टपटपाती चलती जब लगती बड़ी प्यारी,
वही एक नन्ही हमारी है सबसे न्यारी।

रहती हुँ जब उदास-सी  कोई खयाल मे,
लाड़ली मेरी मुस्कुराकर हँसा देती है पल मे।

लगता है छोटीसी ये जिंदगी अब पुरी है,
अम्बर से आयी क्या यही वो नन्ही परी है,
बोले मीठे बोल मानो अमृत है बरसाती,
टीपटीप बुँदे बारिश की जैसे धरती है महकाती।

- गायत्री शर्मा "चेतना"

Post a Comment

Previous Post Next Post