तुझे  भूलना  मैं  चाहूं , ये  आज  कह  रहे  हैं ।
पर  भूलना  है  मुश्किल, एहसास  कह  रहे  हैं।


तुम्हें  भूल  जाना  अच्छा, मेरे  लिए  ही  होगा ।
ये  मुझसे  आज  मेरे, कुछ  खास  कह  रहे हैं ।।

Pt Shobhit Awasthi

1 Comments

Post a comment

Previous Post Next Post