मेरी कविता का शीर्षक है पिता,
में आपको जीवन की एक यात्रा पर लेकर चलता हूं।
आप सब अपने-अपने पिता की स्मृतियों को जहन में रखकर उनमे डूबकर कविता सुने

महकते घर आंगन की फुलवारी है पिता
खुद को गिरबी रख दे वो परोपकारी है पिता
बच्चों की आंख में आंसू नही आने देगा
कर लेता है घाटे का सौदा वो ब्यापारी है पिता

कहानी का हर एक किरदार है पिता
रिश्ते निभाने वाले फनकार है पिता

मेरे विचार मेरे भाव है पिता
लहरो से टकरा जाए वो नाव है पिता

बच्चों की बोली और भाषा है पिता
मेहनत, मजदूरी की परिभाषा है पिता

दर्द सहकर भी खामोश है पिता
ज्ञान का सागर मेरा शब्दकोश है पिता

Father poem

गीतों की तान है पिता
मेरा स्वाभिमान है पिता

मां की आंखो की रोशनी, बाबा की लाठी है पिता
बाहर से सख़्त अंदर से कोमल माटी है पिता

धैर्य और संयम की मूरत है पिता
हमारी जरूरत है पिता

नन्हे बच्चे की उड़ान है पिता
खुला सा आसमान है पिता

मेरी पूंजी मेरा सम्मान है पिता
मेरा साहस मेरी पहचान है पिता

मेरी हर सांस में मौजूद है पिता
मेरा होना,मेरा बजूद है पिता

मेरी दुनिया मेरा जहान है पिता
कपड़ो से गरीब, दिल से धनवान है पिता

हर काम में दक्ष है पिता
जीवन का वटवृक्ष है पिता

* जिंदगी में पिता का होना बहुत जरूरी होता है 
हरदम हमारी फ़िक्र करने वाले, हमारी तकलीफ में परेशान हो जाने वाले...पिता है
पिता के बिना जिंदगी वीरान हो जाती है......

पिता थे तो फरमाइशें थी
पिता थे तो शैतानियां थी
पिता थे तो मिली हर चीज जो मैंने चाही थी
पिता थे तो राजा था में मेरी ही बादशाही थी
उंगली थामे चला मोहल्ले के सारे चौक मेरे थे
तंगी के आलम में भी पिता से सारे शौक मेरे थे

Father's poem

पिता हम सब पर खुशियां लुटाते रहे
अपने दर्द को हमेशा छुपाते रहे।
खाली-खाली सा हर इतवार जाता है
बिन पिता के सूना हर त्योहार जाता है

जब-जब जिक्र होगा खिलोनो का
पिता की याद आएगी।
जब-जब मुसोबतों में घिर जाऊंगा 
पिता की याद आएगी।
जब-जब पड़ेगी सहारे की जरूरत
पिता की याद आएगी।

कविता कि आख़िरी पंक्तियां उन लोगो के लिए जो पिता को अकेला छोड़ देते है।
पल - पल उन्हें दुख देते है......

पिता के होने पर इतराने वालो
उनकी धन दौलत उड़ाने वालो
जब  तुम्हारा मान बढेगा
तब जाकर पिता का सम्मान बढेगा
पिता का दिल दुखाने वाले
दाने-दाने के मोहताज रहेगे
पिता की सच्ची सेवा करने वालो
के सर पर ही ताज रहेगे

पिता के संस्कारों को चकनाचूर नही होने देना,
जब तक रहे जीवित पिता अपनी आंखों से दूर नही होने देना

रह गए थे जो बांकी वो सारे काम हो जायेंगे
झुके जो सर माँ बाप के चरणों में चारो धाम हो जायेगे।

- नितिन त्रिवेदी

11 Comments

  1. Mujhe apne gaane ke liye kuch acche lyrics chahiye. Agar koi acche lyrics likhta hai to mujhe contact kare. 9127476057

    ReplyDelete
    Replies
    1. I have lyrics in Hindi and Marathi language.
      And I can create new lyrics . So tell me what type of lyrics you want.7888209572/7066487517

      Delete
  2. muje sirf gana gana h to kya aap muje gana likh ke de skte ho to plase contect me 8503070114

    ReplyDelete
  3. I have lyrics in Hindi and Marathi language.
    And I can create new lyrics . So tell me what type of lyrics you want.7888209572/7066487517

    ReplyDelete
  4. Bhai mere paas se mere lyrics bhi hai bass ek studio kisi talass hai..

    ReplyDelete
  5. I have written Punjabi song lyrics. In search of a singer.
    Contact at raghavbathla2806@gmail.com

    ReplyDelete
  6. Mere pass kuchh Hindi k likhe huye songs h
    Agr aap mujhe Unki Acchi kimat de skte Ho Toh
    Me aapko wo songs de skta hu

    ReplyDelete
  7. Mere pass kuchh Hindi k likhe huye songs h
    Agr aap mujhe Unki Acchi kimat de skte Ho Toh
    Me aapko wo songs de skta hu contact me 7000441606

    ReplyDelete

Post a comment

Previous Post Next Post