Writing poems|kavita|gazal|shayari|kahani|geet|kaise likhe|literature news|biography|books review|books promotion

Breaking

Sunday, 5 January 2020

Maa Par Kaise Likhe | How To Write On Mother

Maa Par Kaise Likhe | How To Write On Mother

Welcome writers, आपने ठीक सुना आज आपके लिए हम "Maa Par Kaise Likhe, How To Write On Mother" पोस्ट लेकर आये हैं। ये post हम इसलिए लेकर आये हैं, क्योंकि एक सदस्य ने हमें ये comment किया था कि माँ पर कैसे लिखा जाता है, ये बताया जाए। उम्मीद है ये post आपके लिए जरूर Helpful रहेगी। अगर आपको ये लेख पसन्द आये, तो हमारी वेबसाइट को रोजाना विज़िट करें।

How to write on mother

Writers, सबसे पहले तो माँ पर लिखना कोई आसान काम नहीं है और ना ही मैं इसे आसान मानता हूँ। माँ इस दुनिया की ऐसी शख्सियत है, जिसके बिना ये सृष्टि ही नहीं हो सकती। मातृत्व और वात्सल्य ये दोनों ऐसे भाव हैं जिनके लिए जितना लिखें कम होता है। एक बच्चे का अपनी माँ के प्रति प्रेम और एक माँ का अपने बच्चे के प्रति प्रेम कितना हो सकता है, इसे बयां करना मुमकिन नहीं होता। खैर, माँ पर हर रचनाकार लिखना चाहता है ताकि वो अपनी कलम का उद्धार कर सके। एक कलम जब माँ के लिए चलती है, तो वो कलम ऐसी हो जाती है मान लो उसने तीर्थ कर लिए हो।

अगर आप भी एक रचनाकार हैं, तो आप भी माँ की महिमा को बयां कर सकते हैं। भाव आपके स्वयं के होंगे लेकिन हम आपको तरीका तो बता ही सकते हैं कि आप किस आधार पर लिख सकते हैं। जी हां, आज के दौर में हमने देखा है लोग माँ की महिमा को लिखके एक छोटी सी पॉकेट डायरी का रूप देकर उसे प्रसारित करते नज़र आते हैं। अब ये माँ की महिमा लिखने के लिए आप विभिन्न पद्य विधाओं का सहारा ले सकते हैं, जिनमें एक खास है "दोहा"।

दोहा एक ऐसा Writing mode है, जिसमें भले ही दो पंक्तियाँ होती है लेकिन उसके नियम इतने कठिन हैं कि लिखते वक्त भाव और नियम दोनों का तालमेल बिठाते हुए लिखना बहुत मुश्किल भरा काम होता है। दोहे कैसे लिखें जाते हैं इसके लिए हमने post डाली हुई है आप दोहा कैसे लिखें पे click करके जान सकते हैं। माँ की महिमा का बखान करने के लिए आप दोहे लिख सकते हैं। इतना ही नहीं अगर आप किसी दूसरे writing mode का use करना चाहते हैं, तो आप शुरुआत में एक दोहा लिखके starting कर सकते हैं। उसके बाद आप यदि एक poetry लिखना चाहते हैं, तो आगे लिख सकते हैं। ज्यादा जानकारी के लिए आप poetry कैसे लिखते हैं को पढ़ सकते हैं।

अब यदि आप इसे और बेहतर बनाना चाहते हैं, तो आप मुक्तक का सहारा ले सकते हैं। चार-चार पंक्तियों में आप माँ की महिमा का बखान करने का प्रयास कर सकते हैं। मुक्तक कैसे लिखें पढ़कर आप इस विधा पर जरूर काम करें, क्योंकि ये ऐसी विधा है जिसपे अगर आप लिखते हैं, तो सुनने वाला श्रोता ज्यादा आकर्षित होता है। आप इंटरनेट पर ही देख लीजिए जहाँ लोग माँ के लिए whatsapp status लगाने के लिए चार line search करते नज़र आते हैं और इतना ही नहीं आपने भी चार लाइन का video status भी लगाते देखा होगा।

अब जो तरीका है उसे ज्यादातर लोग follow करते हैं और वो है गीत। जी हां, इस विधा का use आपने bollywood जैसी फिल्मों में भी होते देखा है। कोई भी गीतकार जिसे आपने सुना हो वो माँ पे जरूर लिखने का प्रयास करता है। आप भी गीत विधा का चयन कर सकते हैं। इसका format बिल्कुल poetry की तरह होता है। अगर आपसे एक धुन बन पड़ी, तो आप उसे गुनगुनाते हुए आसानी से एक गीत लिख सकते हैं। बस आपको जरूरत होगी तो रोजाना प्रयास की।

ये तो हमने writing mode की बात की और आपको एक way बताया कि आपको किस way में आज के समय में माँ पर लिखना चाहिए। आप भी इन writing mode को follow करके लिखिए आपकी रचनायें भी जरूर आकर्षक बनेगी। बस आपको माँ के लिए अपने दिल में वो गहरे भाव रखने होंगे जिन्हें सुनकर श्रोता के रोंगटे खड़े हो जाए, तभी आपके द्वारा लिखी गई माँ की महिमा सफल हो पाएगी।

तो writers, आज की इस post में हमने "Maa Par Kaise Likhe, How To Write On Mother" के बारे में बताया। उम्मीद है हम थोड़े बहुत सफल जरूर होंगे। हमने आज के वक्त को देखते हुए आपके साथ कुछ writing mode से जुड़ी जानकारी साझा करने की कोशिश की है। अगर आपको माँ की महिमा पर लिखा ये लेख पसन्द आये, तो अपने मित्रों के साथ जरूर share करें।

- लेखक योगेन्द्र "यश"

No comments:

Post a Comment